Sad Shayari
एक नदिय...
एक नदिया है मजबूरी की
उस पार हो तुम इस पार हैं हम,
अब पार उतरना है मुश्किल
मुझे बेकल बेबस रहने दो।

कभी प्यार था अपना दीवाना सा
झिझक भी थी एक अदा भी थी,
सब गुजर गया एक मौसम सा
अब याद का पतझड़ रहने दो।

तुम भूल गए क्या गिला करें
तुम, तुम जैसे थे हम जैसे नहीं,
कुछ अश्क़ बहेंगे याद में बस
अब दर्द का सावन रहने दो।

तेरे सुर्ख लबों के रंग से फिर
मुझे बिखरे ख्वाब संजोने दो,
मैं हूँ प्यार का मारा बेचारा
मुझे बेकस बेखुद रहने दो।
😭💔💔😢💔💔😭
दर्द के...
दर्द के लम्हे कब हम पर आसान बने,
जो दर्द आँसू न बन सके वो तूफ़ान बने।
😭💔💔😢💔💔😭
कोइ इस ...
कोइ इस दर्द-ए-दिल की दवा ला दो मुझे,
किसी पे ऐतबार न करूँ वो हुनर सिखा दो मुझे,
वैसे मैं हर एक खेल का शौक रखता हूँ,
दिलों से खेलना भी कोई सिखा दो मुझे।
😭💔💔😢💔💔😭
हम रूठे...
हम रूठे हुए दिलों को मनाने में रह गए,
गैरों को दिल का दर्द सुनाने में रह गए,
मंज़िल हमारी हमारे करीब से गुज़र गई,
हम दूसरों को रास्ता दिखाने में रह गए।
😭💔💔😢💔💔😭
न आरजू ...
न आरजू है न उल्फत है न दर्द अब कोई,
तुझे मुझसे शायद अब मोहब्बत भी न कोई।

दिल का शीशा जो टूटा तो चकनाचूर हुआ,
अब दिल के टूटे आईने में तस्वीर भी ना कोई।

समंदर सा बसा है आँखों के कोर तले,
अचानक ही बरस पड़ता है छुपा हुआ सावन कोई।

दिन भी काले शामें भी तन्हा रात गहरी उदासी सी,
नहीं सजाता अब इस तन्हा दिल में महफ़िल कोई।

एक हूक एक कसक सी उठती है दिल में जैसे,
ना आएगी अब लौट के खुशी कोई।

क्यों दिल लगाया जवानी के पागलपन में,
काश लौटा दे अब मेरा वो मासूम सा बचपन कोई।
😭💔💔😢💔💔😭
हर ज़ख्म...
हर ज़ख्म किसी ठोकर की मेहरबानी है,
मेरी ज़िन्दगी की बस यही एक कहानी है,
मिटा देते सनम तेरे हर दर्द को सीने से,
पर ये दर्द ही तो तेरी आखिरी निशानी है।
😭💔💔😢💔💔😭
नमक तुम...
नमक तुम हाथ में लेकर सितमगर सोचते क्या हो,
हजारों जख्म हैं दिल पर जहाँ चाहो छिड़क डालो।
😭💔💔😢💔💔😭
दिन को ...
दिन को रात और सुबह को शाम कर लिया,
तेरी आशिक़ी ने किस्सा यूँ तमाम कर दिया।

पढ़ने में हाथ तंग तो हमेशा से रहा है,
उसको पढ़ने का ये नया काम सर लिया।

जीने की ख़्वाहिश लिये मरने लगे तुझ पर,
यूं हमने जीने-मरने का सब इंतजाम कर लिया।

ग़ुरूर भी रश्क़ करता था हम से इक ज़माने में,
आज रुसवाइयों ने कब्जा सरेआम कर लिया।

रौनक हुआ करते थे कभी महफिलों की हम,
तेरी जुदाई ने तन्हाई को मेरे नाम कर दिया।

😭💔💔😢💔💔😭
मत पूछ ...
मत पूछ ज़िन्दगी कैसे गुजरती है तन्हाई में,
आँखों से बरसते हैं आँसू उनकी जुदाई में,
न जाने किस जुर्म की सजा मिली है मुझे,
बहुत रोता है दिल मेरा उनकी बेवफाई में।
😭💔💔😢💔💔😭
तुम्हे...
तुम्हें क्या बताये इश्क़ में मिलता है दर्द क्या...
मरहम भी पिघल जाते हैं ज़ख्म की गहराई देखकर।
😭💔💔😢💔💔😭
PREV
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12
NEXT
Copyright © 2018 - 2020 GOSSIPfever.in All Rights Reserved. | Design by SiteVela Web Solutions & Services Pvt. Ltd. | ⊕ March 23, 2019, 7:48:46 AM